66वें राष्ट्रमंडल संसदीय संघ (सीपीए) सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी भूषण ने प्रतिभाग कर देश का प्रतिनिधित्व किया।

0

राष्ट्रमंडल संसदीय संघ (सीपीए) के उपाध्यक्ष और घाना के राष्ट्रपति, महामहिम नाना अकुफो-एडो ने अकरा में 66वें राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन का उद्घाटन किया।

उन्होंने उद्घाटन करते हुए राष्ट्रमंडल सांसदों से लोकतांत्रिक सिद्धांतों और राष्ट्रमंडल के मूल्यों को बनाए रखने के लिए मिलकर काम करने का आग्रह किया है।

इस दौरान उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी भूषण ने इंडिया रीजन के प्रतिनिधियों के साथ सम्मेलन में प्रतिभाग किया।

इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी भूषण के साथ झांसी सांसद,सीपीए कोषाध्यक्ष अनुराग शर्मा शर्मा और असम के विधानसभा अध्यक्ष बिस्वजीत दैमारी भी इंडिया रीजन का प्रतिनिधित्व कर रहें है।

यह पहली बार है कि सीपीए घाना शाखा और घाना की संसद ने सीपीए के वार्षिक सम्मेलन की मेजबानी की है। सीपीए अफ्रीका क्षेत्र सीपीए के नौ क्षेत्रों के भीतर बहुत सक्रिय है, और यह 17वीं बार होगा जब इस क्षेत्र ने वार्षिक सम्मेलन की मेजबानी की है।

सम्मेलन में आतंकवाद के खतरे से लेकर संसदों में लैंगिक कोटा, ऊर्जा गरीबी से निपटने और युवाओं की सहभागिता और ई-संसदों तक सतत व्यापार और आर्थिक विकास हासिल करने जैसे कार्यशाला विषयों पर चर्चा की जा रही है।

66वें सीपीसी में राष्ट्रमंडल संसदीय संघ (सीपीए) की सदस्यता से अध्यक्ष, पीठासीन अधिकारी और संसद सदस्य भाग ले रहे हैं।

सीपीए राष्ट्रीय, राज्य, प्रांतीय और क्षेत्रीय विधानमंडलों को एक साथ लाने वाला एकमात्र संसदीय संघ है। सीपीए की सदस्यता में राष्ट्रमंडल भर में लगभग 180 संसद और विधानमंडल शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *