मुख्यमंत्री धामी और खेल मंत्री रेखा आर्या ने किया राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ का शुभारंभ

0

आज देहरादून स्थित महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और खेल एवं युवा कल्याण मंत्री रेखा आर्या ने राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ-2023 का विधिवत शुभारंभ किया। राज्य स्तरीय खेल महाकुंभ में 13 जनपदों की 13 टीमें प्रतिभाग कर रही हैं। जहां खिलाडिय़ों ने शानदार मार्च पास्ट किया। साथ ही इस दौरान दौरान सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ प्रस्तुत की गईं। वही राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ में खिलाडियों ने विभिन्न खेलों में शानदार प्रदर्शन किया, सीएम धामी और खेल मंत्री ने सभी विजेता खिलाड़ियों को प्रसस्ति पत्र और मेडल पुरुस्कार से सम्मानित किया और उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनायें दी।


मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य स्तर पर आयोजित होने वाला यह खेल महाकुंभ उत्तराखण्ड के युवा खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए एक उत्कृष्ट मंच प्रदान कर रहा है। खेल महाकुंभ का आयोजन पहले पंचायत स्तर पर फिर ब्लॉक स्तर पर फिर जिला स्तर पर खेलने के पश्चात खिलाड़ी अब राज्य स्तर पर अपनी खेल प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि यह गौरव का विषय है कि इस खेल महाकुंभ में हमारे प्रदेश की बेटियां भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं। उन्होंने कहा कि यह युवाओं की प्रतिभा का ही कमाल है कि आज विश्व पटल पर नए भारत का मान बढ़ रहा है। आज हमारे युवा खिलाड़ियों द्वारा विभिन्न खेलों में राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के सामर्थ्य का परिचय कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस खेल महाकुंभ का उद्देश्य खिलाड़ियों को आगामी 38वें राष्ट्रीय खेलों के लिए भी तैयार करना है। 38वें राष्ट्रीय खेल की मेजबानी उत्तराखण्ड करेगा। जिससे राज्य के युवाओं को अपनी प्रतिभा को दिखाने का मौका मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में राज्य सरकार उत्तराखंड को “सर्वश्रेष्ठ उत्तराखण्ड“ बनाने हेतु प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। राज्य सरकार सरकार युवाओं को बेहतर शिक्षा और बेहतर खेल सुविधायें प्रदान करने के लिए कृतसंकल्पित है। इस दौरान सीएम धामी ने घोषणा करते हुए कहा कि राज्यस्तर पर जो भी खिलाड़ी पहले,दूसरे और तीसरे स्थान पर रहेंगे उन्हें सरकार स्पोर्ट्स किट प्रदान करेगी।


सीएम ने कहा कि किसी लक्ष्य तक कैसे पहुंचे यह सिखाने का काम खेल करता है। राज्यस्तरीय यह खेल महाकुंभ राज्य के खिलाड़ियो को अवसर देने का काम करता है। आज खिलाड़ी अपनी प्रतिभा के दम पर राज्य स्तर पर पहुंच सकता है।राज्य सरकार खेल को बढ़ावा देने के लिए लगातार खिलाड़ियो को प्रोत्साहित कर रही है।प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में देश लगातार आगे बढ़ रहा है।आज देश विदेश में भारत का मान सम्मान बढ़ रहा है। खेलो में भी हमारे खिलाड़ी भारत के नाम को रोशन करने का काम कर रहे है।राष्ट्रीय खेल के आयोजन के लिए सरकार ने राष्ट्रीय खेल सचिवालय का गठन किया है।


अपने संबोधन में खेल मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि यह गौरव का विषय है कि राज्य को 38 वे राष्ट्रीय खेलो की मेजबानी करने का अवसर मिला है।कहा कि आज राज्य में खेल प्रतिभाओं की कमी नही है बस जरूरत है तो उनकी प्रतिभा को निखारने की।कहा कि माननीय मुख्यमंत्री धामी जी के नेतृत्व में खेल और खिलाड़ियो के लिए सरकार ने कई योजनाएं चलाई है। इस वर्ष राज्य सरकार ने पहली बार परंपरागत खेल जिसमे मलखंब और मुर्गा झपट है को शामिल किया है। कहा कि राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ में जो खिलाड़ी राष्ट्रीय खेल का रिकॉर्ड तोड़ेंगे उन्हें नगद 1 लाख की धनराशि से सम्मानित किया जाएगा।


सरकार द्वारा मुख्यमंत्री उदीयमान योजना,मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना चलाई जा रही है जिसमे खिलाड़ियो को क्रमशः 1500 और 2500 रुपिये कि धनराशि प्रदान की जा रही है।साथ ही खिलाड़ियो के लिए आउट ऑफ टर्न जॉब की व्यवस्था भी की गई है। बताया कि जल्द ही छात्राओं के लिए लोहाघाट में स्पोर्ट्स कॉलेज भी बनने जा रहा है जिससे पढ़ाई के साथ हमारी बालिकाएं अपने खेल कौशल को भी बढ़ा सकेंगी।इसके अलावा हमने स्पोर्ट्स डेवलपमेंट फण्ड की भी व्यवस्था की है साथ ही हम जल्द स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी भी बनाने जा रहे हैं। जानकारी देते हुए बताया कि अगले वर्ष तक हम खिलाड़ियो के लिए 4 प्रतिशत का खेल कोटे में आरक्षण भी लाने जा रहे हैं। कहा कि जो खिलाड़ी राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मैडल लेकर आएंगे उन्हें सरकारी नौकरी में समायोजित किया जाएगा।

खेल मंत्री ने साथ ही कहा कि खेल महाकुंभ की शुरुवात न्याय पंचायत स्तर से शुरू की गई थी जो कि ब्लॉक स्तर, जिला स्तर से होते हुए राज्य स्तर पर आयोजित हो रही है जिसका की आज शुभारंभ कर दिया गया है जिसमें विभिन्न खेलों के प्रतिभागी अपनी प्रतिभा दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि इस छोटे से राज्य में पिछले वर्ष खेल महाकुंभ में करीब चार लाख से अधिक प्रतिभागी खिलाडीयो ने खेलों में हिस्सा लिया जो कि इस वर्ष 5 लाख से अधिक पहुंचेगी।

साथ ही उन्होंने कहा कि खेल महाकुंभ का उद्देश्य खिलाड़ियों को आगामी 38वें राष्ट्रीय खेलों के लिये तैयार करना है। 38वें राष्ट्रीय खेल की मेजबानी उत्तराखंड करेगा। इससे राज्य के युवाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा।

इस अवसर पर कार्यक्रम में रायपुर विधायक श्री उमेश शर्मा काऊ,विशेष प्रमुख सचिव खेल श्री अमित सिन्हा, निदेशक खेल एवं युवा कल्याण श्री जितेंद्र सोनकर जी,जॉइंट डायरेक्टर खेल श्री अजय अग्रवाल जी ,जिला युवा कल्याण अधिकारी श्री चमन सिंह चौहान जी सहित विभागीय अधिकारीगण और समस्त प्रतिभागी खिलाड़ी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *